Mangla Gauri Temple Gaya : देश के 18 महाशक्ति पीठ में से एक

Mangla Gauri Temple Gaya

गया शहर में पर्यटकों को घूमने और देखने के लिए बहुत से खूबसूरत पर्यटन स्थल है। यह पर्यटन स्थल उनको गया के संस्कृति और उनसे सम्बंधित रोचक बात बतलाता है। इसलिए आज हम Mangla Gauri Temple Gaya जाएंगे। यह मंदिर गया शहर के प्रमुख पर्यटन स्थलो में से एक है। यह देश के 18 महाशक्ति पीठ में से एक है और इस स्थान पर मुख्य रूप से Shakti ( माँ दुर्गा ) के रूप की आराधना की जाती है। यह स्थान गया में तांत्रिक कार्यों के लिए भी जाना जाता है।

पौराणिक कथाओं के अनुसार इस पवित्र स्थान पर Maa Sati की मृत्यु के बाद, उनके शरीर का एक हिस्सा गिरा था। पूजा करने के लिए श्रद्धालुओं को लगभग 110 से ज्यादा सीढ़ी चढ़कर मुख्य मंदिर तक जाना पड़ता है। मंदिर का उल्लेख वायु पुराण , अगिन पुराण, श्री देवी भागवत पुराण और पद्म पुराण सहित अन्य हिन्दू धर्मग्रंथों और तांत्रिक कार्यों में किया गया है।

Mangla Gauri Temple is a place of tantric works (मंगला गौरी मंदिर गया का एक तांत्रिक कार्यों का स्थान)

मंदिर Gaya city से दूर एक पहाड़ पर स्थित है और यहाँ Maa Sati की पूजा एक स्तन के रूप में की जाती है, जो पोषण का प्रतीक है। लोगों के अनूसार सच्चे मन से माँगा गया प्रत्येक मनोकामना यहाँ पूर्ण होती है। Gauri Temple गया में एक ऊंचे पहाड़ी पर स्थित नौ मंदिरो का एक समूह है।

गौरी मंदिर के गर्भ गृह में दिवार पर बहुत ही सुंदर नक्काशी किया गया है। मुख्य मंदिर के अलावे यहाँ अन्य देवी देवताओं के मंदिर भी बने हुऐ है। प्रत्येक वर्ष नवरात्र के दौरान हजारों श्रद्धालु इस मंदिर में पूजा करने के लिए आते है। शहर के सोर गुल से दूर यहाँ का वातावरण बहुत ही सांत और आनन्द देने वाला है। Mangla Gauri Temple Gaya पर्यटकों के घूमने के लिए एक आदर्श जगह है।

Mangala Gauri Temple opening hours (मंगला गौरी मंदिर खुलने का समय)

कुछ खास दिन छोड़ दिया जाय तो मंदिर पुरे वर्ष खुला रहता है।
खुलने का समय : सुबह 6 AM
बंद होने का समय : रात 8 PM

How to reach Mangla Gauri Temple Gaya (मंगला गौरी मंदिर गया कैसे पहुंचे)

सड़क : गया रेलवे स्टेशन बस स्टैंड” और “मानपुर बस अड्डा” सबसे नजदीक का बस अड्डा है।

रेल :गया रेलवे स्टेशन” सबसे नजदीक का रेलवे स्टेशन है।

हवाई :गया हवाई अड्डा” सबसे नजदीक का हवाई अड्डा है।

About the Author: antitra team

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: